basic concepts of chemistry । रसायन शास्त्र की मुलभुत अवधारणाएँ

basic concepts of chemistry

रसायन शास्त्र :  विज्ञान का वैसा शाखा जिसमे पदार्थो की बनावट, संरचना एंव पदार्थो के गुणों का अध्ययन किया जाता है । इसके साथ- साथ पदार्थो में विभिन्न प्रकार का अध्ययन किया जाता है । उसे रसायन शास्त्र कहाँ जाता है । 

रसायन शास्त्र की भूमिका का अध्ययन : basic concepts of chemistry

रसायन शास्त्र की भूमिका निम्नलिखित है :-

(i) खाद्य पदार्थो की आपूर्ति में :- दिन प्रतिदिन दुनिया में काफी जनसँख्या बढ़ रही है ।  जिसके कारण लोगो को खाद्य पदार्थ की दिक्कत हो सकती है । इसलिए इस प्रकार के दिक्कत से भी दूर रहने के लिए तरह- तरह का रसायन का प्रयोग किया जाता है । तांकि लोगो को खाद्य पदार्थ की दिक्कत नहीं हो । क्योंकि जब हम खाद्य पदार्थ के लिए कृषि उपजाऊ में रसायन का प्रयोग करते है । तो बहुत ही कम जगह में ज्यादा से ज्यादा खाद्य पदार्थ की उत्पादन होती है ।

(ii) स्वास्थ्य तथा सफाई में :-   किसी भी प्रकार के जिव जन्तुओ को खासकर मानव को स्वस्थ रहने के लिए साफ- सफाई अत्यंत आवश्यक है । क्योंकि यदि साफ- सफाई नहीं रखते है । तो अस्वस्थ रहने की ज्यादा से ज्यादा संभावना बन जाती है । इसलिए हमेशा साफ- सफाई में ही रहना चाहिए ।

जिस साफ- सफाई के लिए रसायन का बहुत ही बड़ा योगदान है । क्योंकि ऐसा- ऐसा केमिकल आता है । जिसका उपयोग आवश्यकता अनुसार किसी भी गन्दा वस्तुओं को साफ करने के लिए करते है । तो बहुत ही सुविधापूर्वक बहुत ही अच्छी तरह से साफ हो जाती है । 

(iii) पर्यावरण की सुरक्षा :-  जब हम अपने घरेलु उपयोग के लिए फ्रिज, वायुयान तथा एयरकंडीशनर इत्यादि का उपयोग करते है । तो इससे जो गैस उत्पन्न होती है । वह गैस वायुमंडल के ऊपरी भाग में पहुँचकर ओजोन स्तर को क्षतिग्रस्त कर देता है । जिससे जिव- जन्तुओ में कैंसर जैसे बीमारी का प्रकोप बढ़ जाता है । इसलिए इस प्रकार के बीमारी से बचने के लिए भी रसायन का प्रयोग किया जाता है । 

(iv) जीवन में उपयोगी सामग्री का निर्माण :- हमारे जीवन में तरह- तरह की सामग्रियों की जरुरत परती है । जैसे की कपड़ा, मिठाई, कागज, काँच, सीमेंट, रेशा पेस्ट, प्लास्टिक का सामान इत्यादि में तरह- तरह के रासायनों का प्रयोग किया जाता है । अभी के समय में खाद्य पदार्थ के लिए भी ऐसा- ऐसा रसायन आया है । जो किसी भी खाद्य पदार्थ को भी स्वच्छ एंव स्वादिष्ट बना देता है । 

(v) नाभिकीय ऊर्जा के क्षेत्र में रसायन का उपयोग :- हमलोग कोयला, पेट्रोल डीजल तथा प्राकृतिक गैस का उपयोग काफी मात्रा में करते है । और धीरे- धीरे इसपर निर्भर होने वाले उद्योग, धंधे भी बढ़ते गए । परन्तु अभी के समय में एक संकट उभर रहा है । की इस दुनिया में पेट्रोल, डीजल तथा प्राकृतिक गैस समाप्त होने के कगार पर है ।

यदि यह समाप्त हो जाता है । तो समाप्त हो जाने के बाद हमलोग को काफी दिक्कत का सामना करना पर सकता है । जो भी इस प्राकृतिक तत्व तैयार होता है । वह पहले कच्चा माल निकलता है । तथा उसे उसे रसायन के द्वारा ही रिफाइनिंग करके उपयोग करने लायक पेट्रोल, डीजल तथा पेट्रोलियम गैस भी तैयार किया जाता है ।

(vi) ऊर्जा के अन्य प्रकार के स्त्रोत में भी रसायन का उपयोग :-  ऊर्जा के अन्य स्त्रोत जैसे की पवन ऊर्जा, सौर ऊर्जा तथा जल से विधुत तैयार करने में रसायन का काफी बड़ा ही योगदान है । अर्थात सूर्य के प्रकाश की सहायता जल के हाइड्रोजन को ऑक्सीजन में विघटित हो जाता है । इस प्रकार की प्रक्रिया का उपयोग ईंधन सेल के निर्माण में किया जाता है ।

रासायनिक संयोग का नियम :basic concepts of chemistry

प्रकृति में होने वाली घटनाएं , कुछ निश्चित नियम के अनुसार होती है । जिसे रासायनिक संयोग का नियम भी कह सकते है ।

रासायनिक संयोग का नियम निम्नलिखित है :-

(i) पदार्थ की अनश्वरता का नियम

(ii) स्थिर अनुपात का नियम

(iii) गुणित अनुपात का नियम

(iv) व्युत्क्रम अनुपात का नियम

(v) गैसीय अनुपात का नियम

इस प्रकार के सभी नियमो में पदार्थ की अनश्वरता का नियम मुख्य है । इस प्रकार का नियम फ़्रांस का वैज्ञानिक लब्वाजे ने 1774 ईस्वी में दिया था जो नियम निम्न है :-

नियम :-  इस दुनिया का कोई  भी पदार्थ नष्ट नहीं होता है । बल्कि सिर्फ एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित हो जाती है ।

या,

सभी रासायनिक तथा भौतिक परिवर्तन में अभिकारक का कुल द्रव्यमान , प्रतिफलो के कुल द्रवमानों के बराबर होता है ।

या,

पदार्थ अनश्वर होता है । किसी भी रासायनिक अभिक्रिया के बाद पदार्थ की न तो उत्पत्ति होती है । और न ही नष्ट होता है ।

निष्कर्ष : दोस्तों इस पोस्ट में हमनें रसायन शास्त्र, basic concepts of chemistry,रसायन शास्त्र की भूमिका का अध्ययन, रासायनिक संयोग के नियम इत्यादि को बताने की कोशिस किये है । यदि इस ब्लॉग को पढ़ने के बाद किसी भी प्रकार की क्वेश्चन हो तो कमेंट के माध्यम से पूछने की प्रयास करे । उसका रिप्लाई हम जल्द से जल्द देने की कोशिस करेंगे ।

और भी पाठ पढ़े :